उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन के बारे में सभी जानकारी (कैसे इस्तेमाल करे)

यदि आप एक ब्लॉगर हैं तो आपने UberSuggest के बारे में सुना होगा और आपको यह जानकर बहुत खुशी होगी कि UberSuggest Chrome का एक्सटेंशन भी आ गया है। जिसका इस्तेमाल करके आप किसी आर्टिकल को लिखने से पहले उसके बारे में हर एक तरह की जानकारी हासिल कर सकते हैं.

उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन का मुख्य काम है आपके कीवर्ड रिसर्च को आसान बनाना. क्योंकि जब भी हम कोई आर्टिकल लिखने वाले होते हैं तो हम सबसे पहले उस आर्टिकल के लिए कीवर्ड रिसर्च करते हैं. और अगर यह क्रोम एक्सटेंशन हमारे ब्राउजर पर इंस्टॉल होगा तो हमें किसी भी कीबोर्ड के ऊपर रिसर्च करना बहुत ही आसान हो जाएगा.

अगर आपके गूगल क्रोम ब्राउज़र में उबर सजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन है और अगर आप गूगल पर किसी भी एक कीवर्ड को सर्च करते हैं तो आपके सामने तुरंत ही उस कीवर्ड का मंथली सर्च वॉल्यूम और सीपीसी आ जाता है.

साथ में आपको उस कीवर्ड के लिए रिलेटेड कीवर्ड और सजेशन भी मिल जाएंगे. हालांकि इसमें आपको और भी कई तरह के फीचर देखने को मिल जाते हैं जिसके बारे में हम आगे चलकर चर्चा करने वाले हैं.

उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन की मुख्य विशेषताएं

उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन में आपको कई तरह की विशेषताएं देखने को मिल जाती है. लेकिन हम आपको इनके कुछ मुख्य विशेषताओं के बारे में बताने वाले हैं. उनमें से कुछ उदाहरण नीचे लिखे गए हैं.

 

सर्च वॉल्यूम

जैसे ही आप Google पर जाते हैं और किसी एक कीवर्ड को सर्च करते हैं, आपको तुरंत उस कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम पता चल जाएगा।

अगर आपको सर्च वॉल्यूम के बारे में जानकारी नहीं है तो हम आपको बता दें कि सच वॉल्यूम वो होता है कि जब आप किसी एक कीवर्ड को गूगल पर सर्च करते हैं, तो उस कीवर्ड को पूरे महीने में कितनी बार सर्च किया जाता है. और जितनी बार उसको पूरे महीने में सर्च किया जाता है, उसे कहा जाता है सर्च वॉल्यूम.

तो ऐसे में आप उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करके बड़ी ही आसानी से किसी भी कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम एक झटके में पता कर सकते हैं.

एसइओ डिफिकल्टी

उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करने वाले व्यक्तियों को किसी भी कीवर्ड की डिफिकल्टी बहुत ही आसानी से पता चल जाएगी.

जब आप कोई आर्टिकल लिख रहे होते हैं तो आपको उस आर्टिकल को लिखने से पहले यह जरूर मालूम होना चाहिए कि जिस आर्टिकल को आप लिखने वाले हैं, वह गूगल सर्च रिजल्ट पर आएगा भी या नहीं. क्योंकि अगर आपने कोई ऐसा कीवर्ड सिलेक्ट किया है, जिसको रैंक करवा पाना बहुत मुश्किल है, तो हो सकता है कि आपका वह आर्टिकल इंटरनेट की दुनिया में कहीं खो जाए.

तो उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन आपको बताता है कि वह कितना डिफिकल्ट है या कितना इजी है. और उसी हिसाब से आप अपने आर्टिकल का चयन कर सकते हैं

पेड़ डिफिकल्टी

अगर आप किसी एक आर्टिकल को पब्लिश करने के बाद उसका एडवर्टाइज कर के सर्च इंजन पर दिखाना चाहते हैं तो, यह एक्सटेंशन आपको बताता है कि उस आर्टिकल को एडवर्टाइज कराने के बाद भी उसका रैंक करवाना कितना मुश्किल हो सकता है.

और हमारे हिसाब से यह एक बहुत ही अच्छा अवसर है यह जान पाने का कि जिस चीआर्टिकल को आप रैंक करवाने के लिए पैसा खर्च कर रहे हैं, उसका आपको रिजल्ट मिलेगा भी या नहीं.

तो ऐसे में आपको उबर सजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करना चाहिए जो आपके चुने हुए कीवर्ड की डिफिकल्टी जानने में मदद करता है.

सीपीसी (कॉस्ट पर क्लिक)

हमारे हिसाब से एक आर्टिकल का चयन उसके सर्च वॉल्यूम, एसइओ डिफिकल्टी और सीपीसी यानी के कॉस्ट पर क्लिक के आधार पर करना चाहिए।

अगर आपने कोई ऐसा वर्टिकल चुनाव जिसका सर्च वॉल्यूम, एसइओ डिफिकल्टी हमारे जरूरत के हिसाब से नहीं है तो हमें उस आर्टिकल के ऊपर ज्यादा मेहनत नहीं करनी चाहिए.

ठीक इसी तरह ही कॉस्ट पर क्लिक भी बहुत मायने रखता है. क्योंकि जो आर्टिकल के ऊपर आप इतनी मेहनत करने वाले हैं, आपको मालूम होना चाहिए कि अगर कोई व्यक्ति आपकी वेबसाइट पर आकर किसी एक ऐड के ऊपर क्लिक करता है, तो एक क्लिक का आपको कितना पैसा मिलने वाला है. और अगर वह बहुत कम है तो आपको उस आर्टिकल को लिखने में ज्यादा मेहनत नहीं करनी चाहिए

और यह सारी चीजें आपको उबरसजेस्ट एक्सटेंशन से बड़े ही आसानी से पता चल जाती है और किसी एक आर्टिकल को लिखने से पहले आप का बहुत सारा वक्त बच सकता है

रिलेटेड कीवर्ड

किसी भी एक आर्टिकल को लिखते वक्त कीवर्ड बहुत मायने रखता है और कीवर्ड के साथ मायने रखता है रिलेटेड की भर क्योंकि आप जिसकी वर्कर्स धमाल करेंगे जरूरी नहीं है कि दुनिया भर के बाकी लोग भी उसे कीवर्ड से आपके आर्टिकल को सर्च करेंगे इसलिए आपको सोच समझकर उसके रिलेटेड की वर्ड का अध्ययन करना चाहिए और उन रिलेटेड कीवर्ड को भी अपने उस आर्टिकल में डालना चाहिए ताकि कोई भी व्यक्ति कुछ भी सर्च करें तो आपका ही आर्टिकल है उसको दिखाई दे

इस चीज में आप उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करके किसी भी आर्टिकल के लिए रिलेटेड कीवर्ड आसानी से प्राप्त कर सकते हैं

डोमेन स्कोर

किसी की एक वेबसाइट का डोमैंस को जानना बहुत जरूरी होता है. जब आप किसी एक आर्टिकल को लिखने वाले हैं तो सबसे पहले आपको उसका टाइटल गूगल पर सर्च करना चाहिए. और आपको देखना चाहिए कि सेम वैसा ही आर्टिकल अन्य किसी वेबसाइट पर भी है या नहीं.

अगर आपके सामने कोई एक वेबसाइट पर सेम टाइटल का रिजल्ट शो करता है, तो आपको मालूम होना चाहिए कि जिस वेबसाइट पर सेम वैसा ही आर्टिकल पब्लिश किया गया है, वह वेबसाइट कितनी दमदार है. यानी के उसका डोमैंस स्कोर कैसा है. डोमैंस स्कोर 1 से लेकर 100 तक होता है. और ये जितना ज्यादा उतना अच्छा होता है.

तो एक आर्टिकल का टाइटल चुनने से पहले उसे गूगल पर सर्च कीजिए, और अगर आपके सामने कोई एक ऐसी वेबसाइट आती है जिसने सेम वैसा ही आर्टिकल लिखा है. और उस वेबसाइट का डोमेन स्कोर बहुत ज्यादा है, तो उस आर्टिकल को लिखने की गलती मत कीजिए और और ऐसे में उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन आपको यह गलती करने से रोक लेता है.

निष्कर्ष

उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन एक बहुत ही बेहतरीन चीज है जिसका इस्तेमाल करके आप अपने आर्टिकल को गूगल पर बड़ी ही आसानी से रैंक करवा सकते हैं. क्योंकि इसके अंदर आपको कई सारे फीचर मिल जाते हैं जो कि अक्सर पेड़ टूल में ही देखने को मिलते हैं

तो हमें उम्मीद है कि उबरसजेस्ट क्रोम एक्सटेंशन के ऊपर दी गई जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी. और अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो कृपया आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं. आपका कमेंट पढ़ने में हमें बेहद खुशी होगी.